कालांवाली: अकाली दल के अलग सियासी राह पकडऩे से बने रोचक समीकरण

parmod kumar

0
62

अभी से चुनावी उत्सव का माहौल, सियासी दल हुए सक्रिय

पंजाब के साथ सटी है कालांवाली मंडी। यहां का सियासी मिजाज अनूठा व रोचक है। लोकसभा चुनाव को बेशक 6 माह का जबकि विधानसभा चुनाव को एक बरस का वक्त शेष है, पर इस हलके में कई फैक्ट्स एवं समीकरणों ने सियासी उत्सव का सा माहौल अभी से बना दिया है। करीब 1. 71 लाख वोटर्स वाले इस हलके में फिलहाल शिरोमणि अकाली दल से बलकौर ङ्क्षसह विधायक हैं। 2009 और 2014 का विस चुनाव इनैलो ने शिअद के संग मिलकर लड़ा था और दोनों बार बाजी मारी। पर अब स्थिति रोचकता भरी है। शिअद ने अपनी अलग राह चुनने का फैसला कर हरियाणा की सियासत में स्वयं के बलबूते चुनाव लडऩे का ऐलान कर दिया है। परिसीमन से पहले कालांवाली विधानसभा क्षेत्र रोड़ी विस क्षेत्र था। यह एक तरह से लोकदल का गढ़ माना जाता रहा है। अब शिअद अलग राह पर है। कांग्रेस यहां पर हमेशा मजबूत नजर आई है। इसके अलावा आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी भी यहां पर अपने मोहरे बिछा रही है।
दरअसल 2005 के बाद हुए परिसीमन के बाद ही यह हलका अस्तित्व में आया। शिअद यहां पर फिर से बलकौर पर दांव खेल सकती है। वहीं इनैलो भी अपने पुराने उम्मीदवार एवं सिरसा से सांसद चरणजीत रोड़ी को आजमा सकती है। कांग्रेस से यहां पर शीशपाल केहरवाला का आना तय माना जा रहा है। शीशपाल केहरवाला संगठन के लिहाज से पिछले कुछ समय से मजबूत नेता बनकर उभरे हैं। शीशपाल राहुल गांधी टीम का हिस्सा हैं। यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव के अलावा उन्हें तीन राज्यों के प्रभारी की जिम्मेदारी राहुल गांधी ने दी है। इसके अलावा भाजपा से राजेंद्र देसूजोधा प्रबल दावेदार हैं। वे पिछले चुनाव में भाजपा की टिकट पर 17 हजार वोट लेकर तीसरे स्थान पर रहे थे। यहां पिछले चुनाव में रोचक समीकरण थे। शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार बलकौर ङ्क्षसह ने कांग्रेस के शीशपाल केहरवाला को 12 हजार 965 वोट से पराजित किया था। इसके अलावा भाजपा के राजेंद्र देसूजोधा को 17 हजार के करीब वोट मिले थे। इसके अलावा आम आदमी पार्टी भी यहां पर सियासी बिसात बिछा रही है। आप से भी तीन नाम सामने आ रहे हैं। इसके अलावा पूर्व मंत्री गोपाल कांडा भी यहां से अपना उम्मीदवार उतारने की रणनीति बना रहे हैं। हलोपा के बैनर तले कांडा भी अपने गृह जिला में मजबूत दावेदार की तलाश में हैं। पिछली बार यहां से निर्मल ङ्क्षसह मलड़ी हलोपा के उम्मीदवार थे और उन्हें 15 हजार वोट मिले थे।


रोड़ी से बने विधायक
वर्ष          विधायक                  पार्टी
1977     सुखदेव सिंह            जनता पाटी्र
1982     जगदीश नेहरा            कांग्रेस
1987      रणजीत सिंह           लोकदल
1991     जगदीश नेहरा            कांग्रेस
1996  ओमप्रकाश चौटाला        एसएपी
2000  ओमप्रकाश चौटाला        इनैलो
2005  ओमप्रकाश चौटाला        इनैलो
कालांवाली से बने विधायक


वर्ष              विधायक           पार्टी
2009         चरणजीत रोड़ी      शिअद
2014         बलकौर सिंह         शिअद

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here